सबका सहारा लंड ही तो है

सबका सहारा लंड ही तो है

antarvasna kahani, desi chudai ki kahani

दोस्तों मैं एक सामान्य परिवार का रहने वाला व्यक्ति हूं। मेरे पिता किसानी करते हैं हम एक बहुत ही सामान्य जीवन यापन कर रहे है। यह मेरे कॉलेज के दिनों की बात है। जब मैं कॉलेज में पढ़ा करता था। किंतु आज मैं अपने पिता के साथ खेती का कार्य करता हूं। मैं भी एक किसान बन गया हूं। खेती करते-करते मेरा शरीर बहुत ही तगड़ा Continue reading

दीदी की खुशी के लिए खुद को जीजा जी के आगे दिया

दीदी की खुशी के लिए खुद को जीजा जी के आगे दिया

hindi sex stories, kamukta

मेरा नाम कावेरी है मैं बुलंदशहर की रहने वाली हूं, मेरी उम्र 24 वर्ष है। जब मेरा कॉलेज खत्म हुआ तो उसके कुछ समय बाद मैंने एक फाइनेंस कंपनी में नौकरी ज्वाइन कर ली थी लेकिन वहां से मैंने कुछ समय बाद ही रिजाइन दे दिया और अब मैं घर पर ही रहती हूं। मेरे पिताजी पुलिस में है और वह भी बुलंदशहर में ही है। मेरी Continue reading

जानेमन चुदाई की तमन्ना है क्या ?

जानेमन चुदाई की तमन्ना है क्या ?

antarvasna, hindi porn stories

दोस्तों यह मेरी कहानी है मेरा नाम अतुल है। मेरी शादी  को करीबन 10 से 15 वर्ष हो चुके हैं। लेकिन मेरा जीवन कुछ ठीक नहीं चल रहा है। मैं बहुत ही दुविधा में रहता हूं। साला एक तो ऑफिस में इतनी टेंशन और ऊपर से घर में भी मेरी बीवी का रवैया मेरे प्रति कुछ अच्छा नहीं रहता। अब मैं क्या करूं। जब भी देखता हूं तो अपने वह पुराने Continue reading

पहली मुलाकात मे मेरी योनि का भेदन

पहली मुलाकात मे मेरी योनि का भेदन

antarvasna, desi kahani

मेरा नाम कोमल है मैं बेंगलुरु का रहने वाले हूं, मेरे पिताजी बैंक में नौकरी करते हैं और मैं भी एक मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करती हूं, मेरी उम्र 28 वर्ष है। मेरे परिवार में मेरी छोटी बहन है जो कि अभी कॉलेज की पढ़ाई कर रही है और वह पढ़ने में बहुत ही अच्छी है, वह हमेशा ही फर्स्ट डिवीजन में पास होती है। मैंने एक दिन अपनी Continue reading

पांचों उंगलियां घी में थी

पांचों उंगलियां घी में थी

kamukta, antarvasna दोस्तों यह बात मेरे जीवन की सबसे बड़ी ही रोचक घटनाओं में से है मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मेरी मुलाकात इतने वर्षों के बाद कविता से हो जाएगी और ना ही कभी कविता ने यह सोचा था कि मैं उससे मिल पाऊंगा लेकिन यह इत्तेफाक भी बड़ा अजीब ही था, मैं तो अपने जीवन में बहुत बिजी था और ना ही मैंने कभी इस बारे में सोचा था। एक दिन अचानक कविता मुझसे Continue reading

जेठ जी ऐसे ना देखो मुझे

जेठ जी ऐसे ना देखो मुझे

Hindi sex story, kamukta बच्चों की स्कूल की छुट्टी होती है लेकिन मुझे कुछ पता ही नहीं चलता क्योंकि मैं अपने काम में इतना व्यस्त रहता हूं कि मुझे शायद ही अपने परिवार के बारे में कुछ पता होता है। मेरी पत्नी कई बार मुझे कहती है कि आप इतने व्यस्त रहते हैं कि आप तो हम लोगों के बारे में भी सोचते नहीं हैं लेकिन मैं शायद उन लोगों के लिए ही यह सब कर रहा था। मैंने Continue reading

पड़ोस की आंटी की चूत मारी

पड़ोस की आंटी की चूत मारी

Pados Ki Aunty Ki Choot Maari : हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम सिंटू (सचिन) है और मेरी उम्र 23 साल है. में मुंबई में रहता हूँ. मेरी यह कहानी मेरी पड़ोस वाली आंटी की है, उनका नाम सुमन है और उनकी उम्र 25 साल है और उनका कलर फेयर है. उनकी हाईट 5 फुट 4 इंच है और वो दिखने में बहुत सुंदर है. उनका फिगर साईज 36-25-36 है. एक तरफ उनके बूब्स क़यामत थे, तो दूसरी तरफ उनकी गांड बड़े बड़े कूल्हे मस्त साईज़ के थे. Continue reading

सुबह-सुबह जन्नत दिखाई

सुबह-सुबह जन्नत दिखाई

Hindi sex story, antarvasna मेरी पत्नी की वजह से मुझे हर जगह शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता, मैं अपनी पत्नी की बातों से इतना ज्यादा परेशान हो गया था कि मैं उसके सामने अब ज्यादा बात ही नहीं किया करता वह आए दिन हमारे पड़ोस में सब लोगों से झगड़ा करती मेरे कई बार समझाने के बावजूद वह नहीं समझती इसलिए मैंने उसे बोलना ही छोड़ दिया था, मेरी मां भी उसकी इन हरकतों से Continue reading

भाभी के चुदाई की कहानी मेरी जुबानी भाग १

भाभी के चुदाई की कहानी मेरी जुबानी भाग १

हैल्लो दोस्तों, यह मेरी पहली कहानी है और यह एक सच्ची घटना है. में उस समय 12वीं कक्षा में पढ़ता था और यह मेरी पहली चुदाई थी और इससे पहले में वर्जिन था और यह मेरी लाईफ की सबसे अच्छी चुदाई है.

दोस्तों में एक ठीक ठाक दिखने वाला 21 साल का लड़का हूँ और मेरे लंड का साईज़ 8 इंच लंबा है, जो किसी भी औरत को चोदकर संतुष्ट ही नहीं बल्कि पागल भी कर सकता है. Continue reading

दो लंड और बीच में मै

दो लंड और बीच में मै

Antarvasna, kamukta मेरे पति जब ऑफिस से लौटते तो उनके पैर लड़खड़ा रहे होते थे और उनके चेहरे पर थकान रहती थी। यह सब ऑफिस की थकान थी वह काफी ज्यादा थके हुए नजर आते थे। मैं उनसे कई बार कहती आप ऑफिस क्यों नहीं छोड। आप किसी और जगह क्यों काम नहीं करते लेकिन वह तो जैसे उसी ऑफिस में काम करने के लिए बने थे वह किस जगह और काम करना ही नहीं चहाते थे। वहीं पर उन्हें काम Continue reading