मेरा कुंवारा लंड और मस्त रंडी

मेरा कुंवारा लंड और मस्त रंडी

हेल्लो मेरे साथियों कैसे हैं आप सब और कैसा है आपका नुन्नु | मुझे माफ़ करिए अगर आपको बुरा लगा तो मेरा मतलब आपके लंड से था | नुन्नु तो मैं बस ऐसे ही बोल देता हूँ क्यूंकि बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिनके पास मुझ जैसा मर्दाना लंड होता है | मैं हूँ कल्लू सुपारी और अपनी पान की दूकान है नार्मन मोहल्ले में | मैंने कई लोगों की जिंदगी बनायीं है क्यूंकि मेरा सट्टे का काम भी है और मैंने एक से बढ़के एक लोगों को को सट्टे में जिताया है क्यूंकि मैंने देखा है मेरे हाथ से पत्ते कभी फिसल नहीं सकते | कई बार तो बड़े खान भी मेरे सामने पानी मांग जाते हैं | ये जो बावन परी है न इसकी कृपा मुझपे हमेशा बरसती रहती है और इसलिए लोगों ने मेरा नाम सुपारी रख दिया क्यूंकि मैं पत्तो को सुपारी लेके मिलाता था और जीत भी जाता था | अगर मेरा बापू आज जिंदा होता तो कित्नमा गर्व करता मुझपे | उसके लड़के ने उसकी याद में बाबू सटोरिया खेल का मैदान खोला है जिसमे हार्ट तरह का सत्ता लगवाया जाता है | मेरे बाप का सपना था कि मैं बड़े होकर लोगों के पैसे ढीले करूँ और एक मस्त जुआरी बनू | मैंने आज उसका सपना सच कर दिया और खुद पे मुझे याद है |

मैंने कई बार सोचा कि मैं किसी लड़की को भी चोद लूँ पर मुझे वक़्त नहीं मिलता था किसी को बी चोदने का इसलिए मेरा लंड प्यासा हो गया था और मुझे बहुत ही चुदास लगी रहती थी | मैंने सोचा कि अब मैं अपना काम दूर से बैठ के करूँगा और किस लड़के को लगा दूंगा जो की विश्वासी हो | मुझे वो लड़का मिल गया और उसका नाम सत्तू पहाड़ी है | उसने मेरा पूरा काम संभल लिया और मैं लग गया किसी लड़की की खोज में | मैंने सोचा कि यार लड़की तो मिल नहीं रही एक रंडी को ही चोद लूँ | पर मेरी किस्मत है ही गांडू पर इस बार मुझे कुछ मिल गया इसलिए मैंने सोचा कि ये मौका तो हाथ से जाने नहीं दूंगा | हुआ ये की एक लड़की आई वो दिखने में अच्छी नहीं थी पर उसने मुझसे कहा भैया एक गुटखा दे देना | मैंने उसको गुटका देते हुए उसका हाथ पकड़ा और उससे कहा मैंने चलो हम चलते हैं | उसने कहा कहाँ चल रहे हो मैंने कहा तुमको बजाने | साला मैंने तो बस ऐसे ही बोला था मुझे क्या पता रंडी निकलेगी वो |

उसने तपाक से मुझसे कहा सुन न अभी धंधा कम है चल न लेके मुझे | मैं तुझे पूरी चुदाई करने दूंगी और मज़ा भी दोगुना हो जाएगा क्यूंकि पैसे कम लुंगी | मैंने कहा वाह यार तू तो यार मेरे बहुत काम आएगी और मुझे मज़ा देगी | मैंने उससे कहा चल कहाँ चलना है तुझसे | मैंने सोचा बस आज तो मैं चुदाई कर ही लूँगा | मैंने अपनी ही दूकान से कंडोम निकाला और उसके बाद मैंने उससे कहा चल मेरे घर चल | वो तैयार हो गयी और उसने कहा मैं ३०० रुपये में तुझसे पूरा दिन और पूरी रात चुदुंगी | उसके बाद मैंने उससे कहा ठीक है मैं तुझे पूरा पैसा दूंगा | अब वो गयी मेरे साथ और मैंने उसको बैठाया कमरे में | उसके बाद मैंने उससे कहा चलो मेरा लंड खड़ा करदो जल्दी से मैंने कभी चुदाई नहीं की है इसलिए मेरा लंड कड़क है | उसने जैसे ही मेरे लंड पे हाथ लगाया मेरा लंड फडफडा गया और मेरे लंड से पानी बहने लगा | मेरा लंड खड़ा हूके 12 इंच का हो गया और अब रंडी की हालत ख़राब | उसके बाद मैंने उससे कहा बस अब इसको मुह में ले लो | उसने बड़े अच्छे से मेरा लंड मुह में लिया | मैंने तुरंत आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | उसने अपने होंठों से मेरे लंड को इतने अच्छे से चूसा कि मैंने बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करता रहा और उसके बाद मेरे माल से उसने अपना मुह भर लिया | मैंने उसके बाद उससे कहा अब तुम नंगी हो जाओ और वो तुरंत हो गयी | ऐसे भरे हुए दूध मैंने कभी नहीं देखे थे और उसके बाद उसने अपने दूध मेरे लंड पे रगड़ना चालु किया | मैंने उससे कहा और करो | अब वो लेट गयी और मैं उसके दूध को चोदने लगा और उसके बीच में अपना लंड डालके हिलाता गया | उसके बाद फिर एक बार मेरा मुठ निकला और वो भी उसने पी लिया और बाकि अपने निप्पल पे फैला दिया |

उसका जोश बढ़ता जा रहजा था और मेरा भी | फिर मैंने उससे कहा मेरी गांड को चाटो और उसने चाटना शुरू कर दिया | और इसके साथ में वो मेरे गोटे भी हिला रही थी और ये मेरे लंड को एक अलग ही एहसास दे रहा था | उसके बाद मैंने उससे कहा अब मुझे तुम्हरे दूध पीना है | मैंने उसके दूध पीना शुरू किया | थोड़ी देर बाद उसकी निप्पल खड़ी हो गयी और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | मैंने उससे कहा अच्छा लग रहा है न | उसने मेरा मुह अपने दूध में घुसा दिया और कहने लगी बस करते जा मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है | उसके बाद मैंने उसके दूध को बस एक घंटे तक चूसा और वो अपनी चूत में ऊँगली करते हुए आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी |

मैंने उससे कहा बस अब मैं तेरी चूत को चाटना चाहता हूँ | उसने कहा ठीक है | क्या गीली चूत थी उसकी | मैंने जैसे ही उसकी चूत चाटना चालु कर दिया और वो मज़े लेके अपनी चूत के दाने को सहलाने लगी | उसकी चूत से इतना पानी निकला कि मैं क्या बताऊँ और उसके बाद मैंने उसके सारे पानी को पी लिया और और वो मुझसे कहने लगी अब मुझे चोदो मुझसे रहा नहीं जा रहा | मैंने उससे कहा चलो अब घुसाओ मेरा लंड चूत में | मेरा लंड खड़ा ही था और उसने मेरे लंड के ऊपर अपनी चूत को सेट लिया और जैसे ही मेरा लंड अन्दर गया मेरी चीख निकल गयी | मेरे लंड की सील खुल गयी थी उसके बाद मैंने उससे कहा निकालो मेरा लंड बाहर | उसने मेरी बात नहीं सुनी और चोदना चालु रखा | वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी और मैं रो रहा था | उसके बाद मैंने उससे कहा निकालो जब उसने निकाल तो मेरे लंड से खून आ रहा था | पर थोड़ी देर बाद उसने मेरा लंड चूसा और फिर अपनी चूत में डाल लिया और आगे प[पीछे होने लगी अब मुझे भी मज़ा आने लगा और मैं भी मज़े लेने लगा चुदाई के |

हम दोनों आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहे थे और मुझे मस्त चुदाई का एहसास हो रहा था | मैंने ऐसा कभी मेहोस्सो नहीं किया था जैसा में कर रहा था | फिर मेरे लंड से मुठ निकला जो की उसकी चूत में ही रह गया | अब वो घोड़ी बनी और उसके बाद उसने कहा चलो अपना लंड मेरी गांड में डाल दो | मैंने बोला वाह आज तो ताबड़तोड़ चुदाई का कार्यक्रम चलेगा | जैसे ही मैउने लंड अन्दर डाला वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी और मुझे भी एक बहुत अच्छा नशा छा गया | उसकी गांड इतनी टाइट थी की मेरा आधा लंड ही अन्दर तक गया था | पर थोड़ी देर बाद मेरा पूरा लंड अन्दर तक गया और मैंने उसकी गांड और चूत पूरी रात और और दिन चोदी |

अगले दिन मेरा लंड सूज गया और मुझसे पेशाब तक करते बन रही थी | पर मैंने सोचा चलो बस एक ही बार है आगे के लिए अब में फुर्सत हो गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *