ट्रेन में अंजान लड़के के साथ मेरी अन्तर्वासना 2

ट्रेन में अंजान लड़के के साथ मेरी अन्तर्वासना 2

antarvasna हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों मैं आज अपनी कहानी का भाग 2 लेकर आई हूँ | मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरा पहला भाग बहुत पसंद आया होगा और उसे पढने में मज़ा तो बहुत आया होगा | दोस्तों जैसा की मैं आप लोगो को बताया था की मैं चुदाई कराना बहुत पसंद करती हूँ | दोस्तों मैं जो आज उस कहानी का भाग 2 लेकर आई हूँ मुझे उम्मीद है की आप लोगो को बहुत पसंद आयेगा और इस कहानी को पढने में आप लोगो को मज़ा तो बहुत आने वाला है | दोस्तों मैं कहानी को शुरू करने से पहले थोडा अपने बारे में बता देती हूँ | मेरा नाम रीमा है और मेरी उम्र 22 साल है | मैं दिखने में बहुत गोरी हूँ और मैं रहने वाली गोरखपुर की हूँ | मैं दिखने बहुत ही हॉट लगती हूँ | मुहे देखकर किसी की भी नियत ख़राब हो जाये तो दोस्तों मैं आप अपनी बात को ख़त्म करती हूँ और सीधे कहानी पर आती हूँ |

जब उस दिन वो लड़का मुझे ट्रेन के टॉयलेट में जोरदार धक्को के साथ चोद रहा था | मैं अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदाई के मज़े लेती हुई चुद रही थी | वो मेरी चूत में जब जोर जोर से धक्के मार रहा था तो उसका लंड मेरी बच्चेदानी में जाकर रगड़ता जिससे मुझे बहुत मज़ा आता | वो मुझे ऐसे ही 15 मिनट तक चोदने के बाद झड़ गया | फिर उसने मेरी होठो पर किस किया और मुझे थैंक्स बोला तो मैं भी उसे कहा मोस्ट वेलकम | दोस्तों उस दिन उसने मुझे चुदाई का पूरा मज़ा दिया था | फिर मैंने अपने कपडे पहन लिए और पहले मैं बहर निकल आई उसके 5 मिनट बाद वो मुंह धुलने के बाद बाहर आया | जब वो बाहर आया तो उसने चेहरे पर एक ख़ुशी दिख रही थी और वो मेरे पास आकर बोला यार अपना नम्बर दो | मैंने उसे नम्बर देने से माना किया और कहा की बस तुम्हे चुदाई करनी थी और मुझे अपनी चूत की आग को बुझाना था | इससे हम दोनों का काम हो गया तो नम्बर का क्या करोगे तो उसने मुझसे कहा की हम बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड नही बन सकते क्या | तब मैंने उससे कहा की नही मुझे हेमशा नये लंड से चुदने की आदत है | वो मेरी ये बात सुनकर बोला की इसीलिए तुम मुझसे चुदी हो | मैंने भी उससे कह दिया हाँ इससे तुम्हारा तो काम हो गया ना | फिर मैं जाकर अपनी सेहली के पास बैठ गयी तो रूपा ने मुझसे पूछा की तू कहाँ थी इतने समय से तो मैंने कहाँ कहीं नही बस ऐसे ही खिड़की के पास खड़ी थी | दोस्तों मेरी सेहली रूपा भी चुदाई की दीवानी है इसलिए मैंने उससे नही बताया नही वो मुझसे कहती की रंडी अकेले ही चुद लिया |

दोस्तों मैं रूपा के बारे में भी बता देती हूँ वो मेरी बहुत पुरानी सेहली है और मेरे हर काम में साथ देती है | वो दिखने में मेरी तरह ही हॉट लड़की है पर उसके बूब्स मेरे बूब्स से बड़े हैं | फिर जब हम दोनों मामी के यहाँ पहुच गए तो मैंने मम्मी को फ़ोन किया तो मम्मी ने वहीँ के एक लड़के को लेने के लिए भेजा | वो कुछ देर में आया तो हम दोनों को लेकर चल दिया | वो लड़का मेरी और मेरी सेहली की तरह ही था | वो हम दोनों से मस्ती ले रहा था पर उसे ये नही पता था की हम दोनों ही बहुत बड़ी रंडी हैं | फिर वो हम दोनों को अपने साथ लेकर घर गया | तब मैंने अपनी सेहली को ट्रेन की सारी बाते बताई तो वो मुझे मारने लगी और बोली साली रंडी उस लकड़े के लंड का मज़ा अकेले ही ले लिया | मुझे भी थोडा मज़ा दिला देती तो क्या था | तब मैंने उससे कहा की यार तू इतना घुस्सा क्यूँ हो रही है | मैं तुसे नए लंड से चुदवाती हूँ | वो ये बात सुनकर बोली ठीक है | उस रात जब हम दोनों कमरे में लेटी थी तो कमरे में कोई भी नही था | तब हम दोनों आपस में मस्ती करने लगी | वो मेरे बूब्स को दबा रही थी और मैं उसके बूब्स को दबा रही थी | हम दोनों ऐसे ही कर रहे थे और कुछ देर में रूपा गर्म हो गयी | अब वो अपने आप में नही थी तो मैंने उससे कहा की रूपा अगर यहाँ किसी ने देख लिया तो वो बोली की यार घर में अभी इतने मेहमान भी नही है की कोई हमे देख लेगा | तब मैं उसकी सिलवार का नारा खोल दिया और उसकी चूत को चाटने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर जोर जोर से चाटने लगी | रूपा के मुंह से तेज तेज सांसे निकलने लगी | वो तेज तेज सांसे लेती हुई मेरे सर को अपनी चूत में दबा रही थी | मैं उसकी चूत में जीभ को घुसा कर चाट रही थी और आ आ आ… ई ई ई ई.. ऊ ऊ ऊ ऊ.. की सिसकियाँ ले रही थी | मैं उसकी चूत को ऐसे ही कुछ देर तक चाटने के बाद उसकी चूत में ऊँगली घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी जिससे उसकी चूत का पानी निकल गया | दोस्तों उसने भी मेरी चूत को ऐसे ही चाट कर मेरी चूत का पानी निकाल दिया |

उस रात हम दोनों ने खूब मस्ती की थी | फिर उसके दुसरे दिन की बात है जब वो लड़का हम दोनों को बहुत ही घुर घुर कर देख रहा था | वो हम दोनों को ऐसे देख रहा था की साला जैसे हम दोनों को अभी चोद डालेगा | तब मैंने अपनी सेहली को ये बात बताई तो उसने कहा की साले के लंड में देख लेती हूँ कितना दम है | तब मैंने उसे समझया की पागल है क्या यहाँ कोई जान गया क्या होगा तुझे पता भी है क्या तू हमेशा ही गर्म रहती है क्या | फिर हम दोनों बाहर कुर्सी पर बैठ कर बाते कर रही थी तो वो लड़का मेरे पास आया और बोला तुम दोनों को एक विडियो देखना चाहता हूँ देखोगी | मैंने भी कहा हाँ दिखाओ तो उसने उस रात का विडियो दिखाने लगा | वो विडियो देख कर हम दोनों के होश उड़ गए तो मैंने उससे कहा इसको डिलीट कर दो | तब वो हम दोनों से बोला रात को मेरे साथ चलना तो हटा दूंगा | हम दोनों तैयार हो गयी | उस रात वो हम दोनों को अपने साथ एक घर में लेकर गया तो हम ने देखा की उस घर में एक लकड़ा था और कोई भीं नही था | तब मैं समझ गयी की वो दोनों हम दोनों की चुदाई करने वाले हैं | वो लकड़ा हम दोनों से कपडे उतारने को कहा तो हम दोनों ने अपने कपडे उतार दिए | उसमे से एक लकड़े ने मुझे अपनी बाँहों में भर लिया और दुसरे ने रूपा को | दोस्तों उस दिन मैं चुदाई कराने के मूड में नही थी पर रूपा बहुत गर्म थी | वो दोनों हम दोनों के दूध को पकड कर मसलते हुए मुंह में रख कर चूसने लगे तो रूपा जोर जोर से सांसे लेने लगी | वो लड़का रूपा के मुंह पर हाथ मारते हुए उसकी होठो को चूसने लगा और दूसरा वाला मेरी होठो को चूसने लगा | मैं कुछ ही देर में गर्म हो गयी और मेरी चूत गीली हो गयी | वो मेरे बूब्स के निप्पल को मसलते हुए मेरे दूधो को चूस रहा था | वो कुछ देर तक मेरे बूब्स को चूसता रहा |

फिर उसने मेरी चूत में ऊँगली को घुसा कर जोर जोर से हिलाने लगा | मैं तडपती हुई आ आ आ…. ऊ ऊ ऊ ऊ….. सी सी सी… की सिसकियाँ लेने लगी | मैं जोर जोर से सिसकियाँ ले रही थी | वो दोनों ही हम दोनों की चूत का पानी निकाल दिया | फिर अपने कपड़ो को निकाल कर अपने लंड को मुंह में रख कर चूसने को कहा तो मैंने माना कर दिया तो वो मेरे मुंह पर हाथ मारते हुए बोला चूस साली रंडी | तब मैं उसके लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | हम दोनों रंडी की तरह घुटनों के बल बैठ कर लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चूसती रही थी | फिर उसने मेरी टांगो को फैला कर मेरी चूत में लंड को घुसा कर मेरे दोनों बूब्स को हाथ में पकड कर चोदने लगा | मैं जोर जोर की सिसकियाँ लेने लगी | वो दोनों ही मुझे और रूपा को मस्त धक्को के साथ चोद रहे थे और हम दोनों मस्त मज़े लेती हुई चुदने लगी | अब मुझे मज़ा आने लगा था तो मेरे मुंह से निकल गया और तेज से चोद साले तो वो बोला देख मादरचोद को मज़ा आने लगा | वो मुझे ऐसे ही कुछ देर तक जोरदार धक्को के साथ चोदता रहा | फिर दोनो ने हम दोनों को बदल लिया | फिर दुसरे वाले लड़के ने मेरी चूत में अपने लंड को घुसा दिया | दोस्तों दुसरे वाले लड़के का लंड उस लड़के से ज्यादा बड़ा और मोटा था जिससे मुझे ज्यादा ही मज़ा आने लगा | वो मेरी कमर को पकड कर मेरी चूत में जोरदार धक्के मारने लगा | जब वो मेरी चूत में जोरदार धक्के मारता तो मेरी बच्चेदानी में उसका लंड जाकर रगड़ता तो मुझे बहुत मज़ा आता जिससे मेरे मुंह से जोरदार सिसकियाँ निकल गयी | वो दोनों मुझे ऐसे ही बदल बदल कर चोदते रहे | फिर वो दोनों झड गए |

तब हम दोनों ने उन दोनों के लंड को चूस कर साफ किया | फिर सबने अपने अपने कपडे पहन लिए | दोस्तों उस दिन मुझे चुदाई का असली मज़ा आया था | उस दिन वो दोनों लकड़ो ने हम दोनों की इस भयानक चुदाई की थी की हम दोनों चल भी नही पा रही थी | उसके बाद वो दोनों हम दोनों को चोदने हमरे यहाँ भी आ जाते हैं और हम दोनों को उन लडको से चुदने में बहुत मज़ा आता है |

धन्यवाद्…………

2 thoughts on “ट्रेन में अंजान लड़के के साथ मेरी अन्तर्वासना 2

  1. Yash kumar

    हेलो रूपा क्या तुम मुझसे मिलने चाहोगी

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *