दोस्तों की बहन को नंगी कर के चोदा

दोस्तों की बहन को नंगी कर के चोदा

hindi porn stories

नमस्कार मेरे प्यारे मित्रों, कैसे हैं आप सब ? मैं उम्मीद करता हूँ सिले तक अच्छे होगे और फटे तक चुदाई कर रहे होगे | मेरा नाम विशाल है और मेरा लौड़ा भी विशाल है | मैं मदनमहल का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 26 साल है और मैं बेरोजगार घूम रहा हूँ क्यूंकि बहनचोद पढाई हमसे होती नहीं और ग्रेजुएशन बेस पे अच्छी जॉब नहीं मिल रही | मैं दिखने में गोरा हूँ हेंडसम हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और मेरी हेल्थ भी एक दम अच्छी खासी है | मित्रों, मुझे इस साईट के बारे में मेरे एक चुदासी मित्र ने बतया था और वो मादरचोद चूत का भूत है | मैंने इस साईट पर बहुत ही कम कहानिया पढ़ा हूँ क्यूंकि मुझे ये कहानी पढना बहुत बोर लगता है | मैं कहानी इसलिए लिख रहा हूँ ताकि जो पढ़ते हैं वो ही पढ़ के मजे ले | ये जो कहानी मैं आज लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और एक दम सच्ची घटना है तो मैं ऐसी उम्मीद करता हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी अच्छी लगेगी और नहीं भी लगी तो क्या कम से कम पढ़ तो लो | तो अब मैं कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना तब की है जब मैं कॉलेज की पढ़ाई कर रहा था | मेरे घर में मेरे पापा सुरेन्द्र, मम्मी सीमा, बड़ा भाई राजेश जो शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं | मंझला वाला भाई महेंद्र उसकी शादी को महज बस एक साल ही हुआ है रहते हैं | मेरी उम्र 26 की है लेकिन फिर भी मैं अभी काम नहीं करता हूँ | मेरे घर वाले मेरे भाई सभी मुझे काम के लिए बोलते हैं लेकिन मैं भी क्या करूँ पढाई में इतना खर्च हुआ है कम से कम 20000 की जॉब तो मिले | पर साला कोई जॉब देता ही नहीं है और जो जॉब मुझे करनी नहीं है वो मिलती है इसलिए मैं अभी तक बेरोजगार हूँ | मेरे घर के सामने वाले घर में मेरा एक दोस्त रहता है जिसका नाम पंकज है और वो मेरा बहुत ही अच्छा दोस्त है | जब भी मुझे कहीं जाना होता है तो मैं उसको साथ ले जाता हूँ और जब उसको कहीं जाना होता है तो वो मुझे साथ ले कर जाता है | हम दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त हैं और सबसे ख़ास बात दोस्ती इतनी मजबूत ऐसे ही नहीं है | उसकी बहन है जिसका नाम परी है और वो दिखने में बहुत सुन्दर है और बहुत गोरी है | मैं जब भी उसके घर जाता तो उसकी बहन मुझे बहुत ताड़ती और मैं भी उसको ताड़ता था | परी का फिगर कोई ख़ास तो नहीं है लेकिन उसकी खूबसूरती और उसकी मासूमियत देख कर तो दिल ही लुट जाए | एक बार मैं पंकज के घर गया और उसे आवाज़ लगाई तो परी निकली बाहर और कहा कि भैया तो नहीं है | मैंने पुछा कि कहाँ गया है पंकज ? तो उसने कहा कि भैया मम्मी को ले कर कहीं गए हैं |

ऐसी ही बात चल रही थी और उसने मेरा नंबर मांग लिया और मैंने भी दे दिया | फिर हमारी बात शुरू हो गई और जब हमारी बात को छह महीने ही गए तब जा कर हमने सेक्स की बात करना चालू कर दी | उसके बाद काफी दिनों बाद उसका घर खाली था तो उसने मुझे फोन कर के घर बुला लिया और जब मैं उसके घर गया तो डर भी लग रहा था कि अगर उसका भाई या कोई भी आ गया तो दिक्कत में परेशानी हो जाएगी | फिर मैंने मन में सोचा कि अब जो होगा देखा जायेगा और फिर हम दोनों कुछ देर तक शांत बैठे रहे और मुझे लग रहा था कि वो पहल करेगी और उसे लग रहा था कि मैं पहल करूँगा यही सोचते सोचते हमने 5 मिनट गँवा दिए | उसके बाद दोनों थोडा और पास आ गए और मुस्कुराने लगे | फिर हम दोनों एक दूसरे के होंठ को साथ में चूसने लगे | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके बदन को सहला रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे बदन को सहला रही थी | हम दोनों एक दूसरे के होंठ को चूसते हुए एक दूसरे की जीभ भी चूस रहे थे | उसके बाद मैंने उसके टॉप को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही उसके संतरे जैसे दूध को दबाने लगा तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी |

फिर मैंने उसके ब्रा को भी उतार दिया और फिर उसकी जीन्स भी अब वो मेरे सामने बस पेंटी में थी | फिर मैं उसके दोनों दूध को बारी बारी से चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसके दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और साथ में निप्पलस को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे चेहरे पर हाँथ फेर रही थी | उसके बाद मैंने उसे लेटा कर उसकी पेंटी को भी उतार दिया और अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी | उसका गोरा चिकना बदन देख कर मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था और वो थोडा सा शर्मा कर अपनी चूत को जांघो से दबा रही थी | फिर मैंने उसकी दोनों टांगो को चौड़ा कर दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ से चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से रगड़ रगड़ कर चाट रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर मैं उसकी चूत के अन्दर तक जीभ डाल कर चाटने लगा और उसके दोनों दूध को भी दबाने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए आन्हे भर रही थी | फिर मैंने अपनी टी-शर्ट को उतार दिया और अपनी बनियान भी और वो मेरी जीन्स उतारने लगी | फिर मैं उसके सामने सिर्फ चड्डी में था | उसके बाद उसने मेरी चड्डी भी उतार दी और मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर सहलाने लगी | उसके बाद वो मेरे लंड पर अपनी जीभ फेरने लगी और मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी |

वो मेरे लंड पर अपनी जीभ भी फेर रही थी और अपने दूध भी मसल रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके निप्पलस को मसलने लगा | वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मेरे गोटों को हाँथ से सहला रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को चोद रहा था | फिर वो मेरे दोनों गोटो को मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए लंड हिलाने लगा | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सहलाते हुए अन्दर पेल दिया और चोदने लगा तो वो भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी आँख बंद कर के |

कुछ देर के बाद मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा और वो भी अब गरम हो चुकी थी बहुत ज्यादा तो अपनी कमर उचका उचका कर चुदाई में साथ देने लगी | फिर मैंने उसे कुत्ता बना दिया और फिर से उसकी चूत को चाट कर अपने लंड को उसकी चूत में डाला और चोदने लगा कमर पकड़ कर और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां लेते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | करीब 45 मिनट तक की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी अच्छी लगी होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *